Connect with us

Crime

सुशांत सिंह राजपूत के मरने से ठीक पहले का नहीं है यह वीडियो, सोशल मीडिया में हो रहा है वायरल

सोशल मीडिया एप्प टिकटॉक पर सुशांत सिंह राजपूत की एक वीडियो क्लिप वायरल हो रही है। दावा किया गया है कि यह उनकी आखिरी वीडियो है। वीडियो में देखा जा सकता है कि सुशांत एक कमरे में अपने बेड पर तेजी से कूदते हुए नजर आ रहे हैं।

Published

on

यह सुशांत सिंह राजपूत का आखिरी वीडियो है।

ßámeer Pàßhá on TikTok

ßámeer Pàßhá (@v_s_p_creations) has created a short video on TikTok with music original sound. #fyp #foryou #foryourpage #ripsushanthsinghrajput #depression #lastvedio #sushanthsinghrajput #bollywood #indianfilminduatry #bollywoodstar

टिकटॉक वीडियो स्क्रीनशॉट

सोशल मीडिया एप्प टिकटॉक पर सुशांत सिंह राजपूत की एक वीडियो क्लिप वायरल हो रही है। दावा किया गया है कि यह उनकी आखिरी वीडियो है। वीडियो में देखा जा सकता है कि सुशांत एक कमरे में अपने बेड पर तेजी से कूदते हुए नजर आ रहे हैं। गौरतलब है कि सुशांत राजपूत ने अभी हाल ही में अपने बांद्रा स्थित घर में फांसी लगाकर जान दे दी थी। उनकी मौत को लेकर सोशल मीडिया में कई कयास लगाए जा रहे हैं।

ट्विटर पर भी इस वीडियो को शेयर किया गया है।

No Title

No Description

ट्वीट का आर्काइव लिंक यहाँ देख सकते हैं।

फैक्ट चेक:

बॉलीवुड जगत सुशांत सिंह राजपूत के असमय निधन से स्तब्ध है। आत्महत्या के बाद सोशल मीडिया पर कई कयास लगाए जा रहे हैं। ट्विटर पर वाकयुद्ध चल रहा है। कई लोग कह रहे हैं कि सुशांत मरने से पहले काफी तनाव में थे। एक ऐसा ही वीडियो वायरल भी किया जा रहा है। देखा जा सकता है कि एक व्यक्ति कमरे में विस्तर पर तेजी से कूद रहा है। हालाँकि उसका चेहरा साफ़ नहीं दिखाई दे रहा। कहा गया है कि यह उनके मरने से 10 मिनट पहले की वीडियो है। वीडियो की सत्यता जानने के लिए कुछ स्क्रीनशॉट्स के माध्यम से खोजना शुरू किया। हालाँकि इस दौरान कोई ऐसा पुख्ता साक्ष्य नहीं मिला जिससे यह साबित हो पाता कि वायरल दावा सही है।

कुछ अन्य कीवर्ड्स की मदद से खोजने पर एक टिकटॉक यूजर का प्रोफ़ाइल मिला जिसमें वायरल वीडियो को पूरा देखा जा सकता है। इसके अलावा गौर से वीडियो देखने पर पता चलता है कि यह वीडियो कैमरे को ज़ूम करके रिकॉर्ड किया गया है। यह एक सीसीटीवी फुटेज नहीं हो सकता।

benesqueda on TikTok

benesqueda (@benesqueda) has created a short video on TikTok with music original sound. i can’t believe i woke up to this😖 #fyp #foryou #foryoupage

टिकटॉक वीडियो

benesqueda नामक टिकटॉक यूजर ने इस वीडियो को अप्रैल में अपलोड किया था। जबकि एक्टर सुशांत की मौत जून में हुई है। इस वीडियो को देखने के बाद यह साबित हो गया कि यह सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी वीडियो तो हो ही नहीं सकती। इसके अलावा टिकटॉक यूजर ने इसी तरह के कई क्रेज़ी वीडियोज अपलोड किये हैं।

हमारी पड़ताल में यह साफ हो गया कि जिस वीडियो को मृतक अभिनेता सुशांत राजपूत की मौत से कुछ मिनट पहले का बताकर वायरल किया गया है असल में वह उनकी मौत से करीब 2 महीने पहले एक टिकटॉक यूजर द्वारा रिकॉर्ड किया गया था। इस वीडियो में सुशांत राजपूत का चेहरा भी नहीं दिख रहा है। इससे यह साफ होता है कि टिकटॉक यूजर के इस वीडियो को लोगों ने गलत दावे के साथ शेयर किया है।

Tools Used

Tiktok

Twitter Advanced Search

Google Reverse Image

Snipping

Result- False

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in)

Authors

Continue Reading

Crime

प्रेम प्रसंग में युवक के साथ हुई अमानवीय घटना का वीडियो जातीय एंगल के साथ सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

सोशल मीडिया पर एक युवक को जूते से पानी पिलाने वाला एक वीडियो वायरल हो रहा है। दावा है कि युवक दलित है और उसके साथ ऐसा व्यवहार करने वाले ऊँची जाति के लोग हैं।

Published

on

सोशल मीडिया पर एक युवक के साथ हो रही बर्बरता का वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में देखा जा सकता है कि एक युवक को जूते से पानी पिलाया जा रहा है। वीडियो शेयर करने वाले यूज़र्स का दावा है कि पीड़ित युवक दलित समाज से है और उसके साथ बर्बरता करने वाले हिन्दू समाज के उच्च जाति वाले लोग हैं।

ट्वीट का आर्काइव लिंक यहाँ देखें।

सोशल मीडिया पर उक्त वीडियो को वायरल दावे के साथ कई अन्य यूज़र्स ने भी शेयर किया है।

Fact check / Verification

ट्विटर पर एक युवक के साथ हो रहे अमानवीय व्यवहार के वीडियो को सैकड़ों लोगों ने लाइक तथा रिट्वीट किया है। वायरल वीडियो के साथ शेयर किये जा रहे दावे की सत्यता तथा वीडियो कहाँ का है, यह जानने के लिए हमने अपनी पड़ताल आरम्भ की। पड़ताल के दौरान हमने सबसे पहले वीडियो को INvid टूल की सहायता से कुछ कीफ्रेम्स में तोड़ा।

इसके बाद हमने कीफ्रेम्स को गूगल पर रिवर्स इमेज टूल के माध्यम से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें FreePressJournal नाम की वेबसाइट पर वायरल वीडियो से संबंधित एक लेख मिला। वेबसाइट पर लेख को 16 जून साल 2020 को छापा गया था।

युवक दलित वायरल वीडियो

लेख के मुताबिक वायरल वीडियो की घटना राजस्थान के सिरोही जिले के सरदारपुरा गांव की है। जहां एक युवक को गांव की एक युवती से प्रेम प्रसंग का संबंध रखने के आरोप में पंचायत द्वारा दी गयी सजा के तहत पीटा गया साथ ही उसके साथ अमानवीय व्यवहार भी किया गया। रिपोर्ट के मुताबिक युवक और युवती एक ही समुदाय के हैं।

उपरोक्त वेबसाइट पर मिली जानकारी की पुष्टि के लिए हमने गूगल पर और बारीकी से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें दैनिक भास्कर भी वेबसाइट पर मामले से संबंधित एक लेख छपा मिला।

युवक दलित वायरल वीडियो

लेख के मुताबिक राजस्थान में एक गांव के कुछ लोगों ने एक युवक को गांव की ही एक स्वजातीय विवाहिता से प्रेम संबंध रखने के आरोप में पहले उसे पीटा और बाद में उसे बोतल में भर कर पेशाब तथा जूते में भरकर पानी पिलाया। लेख में बताया गया है कि उक्त घटना पाली जिले के गांव सुमेरपुर की है। जहां आरोपियों ने पीड़ित का अपहरण किया और उसे सिरोही के निकट सुपरणा (सरदारपुरा) गांव ले गए थे। बता दें कि घटना को अंजाम देने वाले विवाहिता के रिश्तेदार थे।

लेख में बताया गया है कि घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद इलाके की पुलिस ने रिपोर्ट भी दर्ज की थी। जिसके बाद पुलिस युवक की तलाश में उसके घर गई जहां कोई नहीं मिला। इस दौरान ग्रामीणों ने बताया कि कुछ दिन पहले परिवार के लोग कहीं चले गए हैं। घटना में ज़्यादती करने वाले पंच भी गायब हैं। पुलिस दोनों पक्षों को तलाश कर रही है।

मामले की सटीक जानकारी के लिए लिए हमने गूगल पर और बारीकी से खोजा। जहां हमें zeenews की वेबसाइट पर मामले से संबंधित एक लेख मिला। लेख में जानकारी दी गयी है कि मामले के 6 नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इसके साथ ही लेख में यह भी बताया गया कि मामले के दोनों पक्ष एक ही जाति के हैं।

युवक दलित वायरल वीडियो

खोज के दौरान हमें zee news के यूट्यूब चैनल पर उक्त मामले से संबंधित एक वीडियो मिला। जहां पुलिस द्वारा मामले पर मीडिया को दिए गए बयान को दिखाया गया है। इस दौरान पुलिस ने भी बताया कि मामला प्रेम-प्रसंग का है।

इसके बाद मामले की तह तक जाने के लिए हमने सुमेरपूरा थाने में भी इस नंबर (02933258422) पर सीधा संपर्क किया। जहां हमें बताया गया कि मामला प्रेम प्रसंग का है। इस दौरान जानकारी मिली कि उक्त मामले में आरोपियों को कोर्ट द्वारा सजा दी जा चुकी है। इसके साथ ही पुलिस ने जानकारी दी कि इस मामले में दोनों एक ही जाति के हैं, यह मामला किसी भी प्रकार से दलित उत्पीड़न से संबंधित नहीं है।

Conclusion

पड़ताल के दौरान मिले सभी तथ्यों से पता चला कि वायरल वीडियो क्लिप राजस्थान की है। जहां एक युवक को गांव की एक स्वजातीय विवाहिता से प्रेम प्रसंग रखने के आरोप में विवाहिता के परिजनों द्वारा पीटा गया। उक्त मामले में किसी भी प्रकार का दलित उत्पीड़न वाला एंगल नहीं है।

Result- Misleading


Our Sources

https://zeenews.india.com/hindi/india/rajasthan/due-to-love-affair-youth-urinated-in-a-bottle-fed-water-in-shoes/697218

https://www.bhaskar.com/local/rajasthan/news/angry-punches-forced-the-young-man-to-drink-water-and-urine-in-shoes-127415565.html

किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें:9999499044या ई-मेल करें:checkthis@newschecker.in

Authors

Continue Reading

Crime

झारखण्ड में प्रेमी द्वारा प्रेमिका को चाकू मारे जाने का पुराना वीडियो एक बार फिर सांप्रदायिक रंग देकर किया गया शेयर

ये वीडियो इससे पहले सितंबर 2019 में भी वायरल हुआ था जिसका फैक्ट चेक Newschecker की टीम ने तब भी किया था।

Published

on

लव जिहाद

सोशल मीडिया पर तनिष्क (Tanishq) के एक विज्ञापन को बॉयकॉट करने की मांग के बाद ‘लव जिहाद’ एक बार फिर सुर्खियों में है। कई तरह के वीडियो और तस्वीरें सांप्रदायिक रंग देकर शेयर किए जा रहे हैं। इसी बीच झारखंड में एक प्रेमी द्वारा अपनी प्रेमिका पर किए गए हमले का एक साल पुराना वीडियो एक बार फिर वायरल हो रहा है। दावा किया जा रहा है कि ये नतीजा लव जिहाद का है, एक हिंदू लड़की पर उसके मुस्लिम प्रेमी द्वारा इस तरह प्रताड़ित किया जा रहा है।  इस वीडियो को शेयर करने वालों में BJP की IT Convener भी शामिल है।

उमा शंकर नाम के एक यूज़र द्वारा शेयर किए गए इस वीडियो को दो हज़ार से ज्यादा लोग रीट्वीट कर चुके हैं।

ये वीडियो इससे पहले सितंबर 2019 में भी वायरल हुआ था जिसका फैक्ट चेक Newschecker की टीम ने तब भी किया था।

Fact Check/Verification

वीडियो में एक जख़्मी युवती स्थानीय लोगों से मदद मांगते हुए दिख रही है। वीडियो पोस्ट करने वाले का दावा है कि एक विशेष समुदाय का युवक हिन्दू युवती को घुमाने के उद्देश्य से बाहर ले गया था जहां उसने चाकू से युवती का गर्दन काटकर मारने की कोशिश की। इस दौरान युवती के आवाज लगाने पर पास से गुजर रहे हिन्दू युवक ने युवती की जान बचाई।

वीडियो की सत्यता जानने के लिए हमने Google की मदद ली। खोज के दौरान हमें दैनिक भास्कर के एक लेख में वायरल वीडियो प्राप्त हुआ। लेख के मुताबिक वायरल वीडियो झारखण्ड के रांची जिले के पिठोरिया घाटी के पास का है। जहां एक प्रेमी ने अपनी प्रेमिका पर बेवफाई का आरोप लगाते हुए उसे जान से मारने की कोशिश की। लेख के अनुसार युवती द्वारा शादी का प्रस्ताव ठुकराए जाने पर नाराज प्रेमी ने चाकू से उस पर वार कर दिया।जिसके चलते युवती के गर्दन पर हल्की चोट लग गई। घटना के दौरान वहां से गुजर रहे लोगों ने प्रेमी युवक को पकड़ कर पहले पीटा और फिर पिठोरिया पुलिस के हवाले कर दिया। घटना के बाद से युवती दहशत में है।

ETV के एक लेख से हमें घटनाक्रम की पूरी जानकारी प्राप्त हुई। लेख के मुताबिक प्रेमी अरविंद ने अपनी प्रेमिका पर आरोप लगाया कि वह किसी दूसरे युवक से भी प्यार करती है और उसके साथ उसके अवैध संबंध हैं। इस बात को लेकर प्रेमी और प्रेमिका में तू-तू-मैं-मैं हुई, दोनों के बीच झगड़ा इतना बढ़ गया कि अरविंद ने आवेश में आकर चाकू से अपनी प्रेमिका की गर्दन पर वार कर दिया।

Conclusion

यह वीडियो एक बार फिर सांप्रदायिक एंगल देकर शेयर किया जा रहा है जबकि वीडियो में दिख रही युवती और युवक दोनों ही एक ही धर्म के हैं। इससे पहले साल 2019 में भी यह वीडियो भ्रामक दावे के साथ सोशल मीडिया पर शेयर किया गया था।

Result: Misleading


Our Sources

Dainik Bhaskar: https://www.bhaskar.com/jharkhand/ranchi/news/girl-stabbed-with-knife-for-rejecting-marriage-proposal-01642487.html?utm_expid=.YYfY3_SZRPiFZGHcA1W9Bw.0&utm_referrer=

ETVBharat: https://www.etvbharat.com/hindi/jharkhand/state/ranchi/boyfriednd-attack-his-girlfriend-with-knife-in-ranchi/jh20190915224250947


किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044 या ई-मेल करें :checkthis@newschecker.in

Authors

Continue Reading

Crime

कर्नाटक में हुए अपहरण के वीडियो को सोशल मीडिया पर यूपी का बताकर किया गया शेयर

एक वीडियो में एक युवती का दिन-दहाड़े अपहरण होते हुए देखा जा सकता है। दावा किया गया है कि यह घटना यूपी में घटित हुई है।

Published

on

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, वीडियो में एक युवती का दिन-दहाड़े एक सड़क के किनारे से अपहरण होते हुए देखा जा सकता है। वीडियो शेयर करने वाले यूज़र का दावा है कि उत्तर प्रदेश में दिन-दहाड़े युवतियों का अपहरण हो रहा है, लेकिन योगी सरकार इन अपराधों पर मौन है।

ट्वीट का आर्काइव लिंक यहाँ देखें।

सोशल मीडिया पर वायरल इस क्लेम को कई अन्य यूज़र्स ने भी शेयर किया है।

Fact check / Verification

उत्तर प्रदेश के हाथरस में कथित तौर पर हुए बलात्कार के बाद प्रदेश के कई जिलों जैसे बलरामपुर और भदोही से युवतियों के साथ हुई बर्बरता की ख़बरें आई हैं। जिसके बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने योगी सरकार के लॉ एंड आर्डर पर कई सवाल उठाये।

इस दौरान उत्तर प्रदेश में महिलाओं के साथ हो रही हैवानियत पर योगी सरकार को घेरने के लिए सोशल मीडिया पर लोगों ने हाथरस प्रशासन को भी खूब ट्रोल किया। इसी बीच सोशल मीडिया पर योगी सरकार की निंदा करते हुए एक युवती के अपहरण का वीडियो शेयर कर दावा किया गया कि योगी सरकार में दिन-दहाड़े बेटियों का अपहरण हो रहा है।

वायरल वीडियो की सत्यता जानने के लिए पड़ताल आरम्भ की। पड़ताल के बाद हमने वायरल वीडियो को कुछ कीफ्रेम्स में तोड़कर रिवर्स इमेज टूल के माध्यम से खोजना शुरू किया। खोज के दौरान हमें mangloretoday नाम की वेबसाइट पर 16 अगस्त साल 2020 को छपी एक रिपोर्ट मिली।

युवती अपहरण घटना वीडियो

रिपोर्ट में वायरल वीडियो को अपलोड करते हुए यह जानकारी दी गयी है कि यह घटना कोलर जिले की है। लेख के मुताबिक एक युवती ने जब एक युवक के साथ शादी का प्रस्ताव ठुकरा दिया तो उसने युवती का अपहरण कर लिया। बता दें कि लेख में आगे यह बताया गया है कि पुलिस ने युवती को युवक के चंगुल से छुड़ा लिया है।

उपरोक्त मिले लेख के मुताबिक यह घटना कोलर शहर की है, जिसके बाद हमने गूगल पर कोलर जिले की जानकारी प्राप्त करने के लिए खोजना शुरू किया। इस दौरान गूगल पर मिले परिणामों से पता चला कि कोलर जिला कर्नाटक प्रदेश में है।

युवती अपहरण घटना वीडियो

हमने वायरल वीडियो की पुष्टि के लिए गूगल पर और बारीकी से खोजना शुरू किया। जिसकी बाद हमें वायरल वीडियो The times of India की वेबसाइट पर मिला। वायरल वीडियो को वेबसाइट पर 15 अगस्त साल 2020 को अपलोड किया गया था।

युवती अपहरण घटना वीडियो

यहाँ भी वायरल वीडियो की जानकारी देते हुए बताया जा रहा है कि उक्त अपहरण की घटना कर्नाटक के कोलर जिले से है। लेख में बताया गया है कि जब युवती ने युवक के साथ शादी का प्रस्ताव ठुकराया, तो उसके बाद युवक ने सोची-समझी साजिश के तहत हाल ही में 13 अगस्त को इस घटना को अंजाम दिया।

Conclusion

पड़ताल के दौरान मिले तथ्यों से पता चला कि दिन दहाड़े युवती के अपहरण का वायरल वीडियो उत्तर प्रदेश का नहीं बल्कि कर्नाटक के कोलर जिले का है, जहां एक युवक ने युवती द्वारा उसके शादी प्रस्ताव को ठुकराए जाने के बाद इस अपहरण की घटना को अंजाम दिया।

Result:Misleading

Our Sources

https://timesofindia.indiatimes.com/videos/city/bengaluru/karnataka-terrifying-abduction-of-a-woman-in-broad-daylight-caught-on-cam/videoshow/77565241.cms?from=mdr

http://www.mangaloretoday.com/headlines/Woman-kidnapped-openly-in-daylight-in-Kolar-Caught-on-Camera.html

(किसी संदिग्ध ख़बर की पड़ताल, संशोधन या अन्य सुझावों के लिए हमें WhatsApp करें: 9999499044  या ई-मेल करें: checkthis@newschecker.in)

Authors

Continue Reading